Reverse Thinking psychology hindi रिवर्स थिंकिंग

टिप्स अपने काम को किस तरह बेहतर किया जा सकता है? सफलता की ओर कदम बढ़ाने में मददगार साबित होंगी ये बातें ‘रिवर्स थिंकिंग’ से मिल सकता है समस्या का सर्वश्रेष्ठ समाधान

Harvard Business Review

एक नए विचार की तलाश कैसे करेंगे? कैसे जानेंगे कि आप जरूरत से ज्यादा काम कर रहे हैं? अपनी गलतियों को कैसे बेहतर समझेंगे, जानिए हार्वर्ड बिजनेस रिव्यू से

1.सबसे खराब आइडिया ही पहुंचाएगा श्रेष्ठ विचार तक

नया आइडिया तलाश रहे हैं तो सबसे खराब के बारे में सोचें। समस्या सुलझाने का सबसे खराब आइडिया क्या होगा है? ऐसे आइडिया सोचें जो आपको हंसी का पात्र बना दे। अब इस सोच को पलटकर नए सिरे से सोचें। इसे ‘रिवर्स थिंकिंग’ कहते हैं। सबसे खराब सोचकर सबसे अच्छे आइडिया हासिल कर सकते हैं। (‘टू कम अप लिद अ गुड आइडिया स्टार्ट बाय इमैजनिंग द वर्स्ट आइडिया पॉसिबल’, आएसे बिरसेल)

2.काम के दौरान ग़लतियों से घबराएं नहीं, उनसे सीख लें

काम करते हुए गलती हो जाए तो ये नहीं सोचना चाहिए कि ‘मैं इस काम के लिए सही व्यक्ति नहीं हूं।’ यह सोचें कि ‘इस काम को करने के लिए जो कौशल चाहिए उसे मैंने अभी तक विकसित नहीं किया है।’ गलती को समझने से न सिर्फ आपका आत्म-सम्मान बना रहेगा बल्कि आप ये भी जान पाएंगे कि आखिर आपसे ये गलती किन कारणों से हुई। (‘गुड लीडर्स आर गुड लर्नर्स, लॉरेन ए. कीटिंग)

 

3.कैसे जानेंगे कि आप जरूरत से ज्यादा काम कर रहे हैं

आखिरी बार कब आपने काम से छुट्टी ली थी? आप वीकेंड्स पर भी काम कर रहे हैं? यह दर्शाता है कि आप खुद को जरूरत से ज्यादा थका रहे हैं। जब किसी से मिलते हैं तो क्या वहां पूरी तरह मौजूद होते हैं? बाहर भी फोन और ईमेल्स करना सामान्य नहीं है। जीवन में संतुलन लेकर आएं। जरूरत से ज्यादा काम करके परफॉर्मेंस बिगड़ता है। (आर यू पुशिंग यॉरसेल्फ टू हार्ड एट वर्क, रेबेका जुकर)

4.मुश्किल प्रेजेंटेशन की किस तरह तैयारी करते हैं आप

मुश्किल प्रेजेंटेशन से पहले अभ्यास करने का मतलब ये नहीं कि हर लाइन रटना है। उद्देश्य ये होना चाहिए कि आप जो भी बोलें पूरे आत्मविश्वास के साथ बोलें। शुरुआत और अंत में थोड़ा ज्यादा बोलने की कोशिश करें। संक्षिप्त परिचय देकर अपना संदेश दें। अभ्यास करते समय फोन पर रिकॉर्ड भी कर सकते हैं। ऐसे भी गलतियां सुधार सकते हैं। (हाउ टू रिहर्स फॉर एन इंपॉर्टेट प्रेजेंटेशन, कारमीन गैलो)

साभार:  दैनिक भास्कर