Best motivational speech in hindi 2021। motivational speech in hindi for students

Best motivational speech in hindi 2021। motivational speech in hindi for students
Best motivational speech in hindi 2021। motivational speech in hindi for students

1.Motivational speech: virat kohli 
असफलताओं से सीखते रहना लगातार चलने वाली प्रक्रिया है
1,Motivational Speech in Hindi for Success

बुरा वक्त सबकी जिंदगी में आता है। हम असफलताओं से बच नहीं सकते। और न ही सफलता का अनुमान लगाया जा सकता है। आपके हाथ में सिर्फ मेहनत होती है। जो भी करना चाहते हैं, 
सफलता का एक ही तरीका है, मेहनत करना। असफलता से ही आप सबसे ज्यादा सीखते हैं। सफलता से आप सीखते नहीं हैं क्योंकि इसके बाद आपको लगता है कि सब कुछ सही है।

आप इधर-उधर देखना बंद कर देते हैं कि आपकी गलती कहां थी, आप कहां सुधार कर सकते हैं। असफलताओं से सीखते रहना जिंदगीभर चलने वाली प्रक्रिया है। 
 मुझे जीतने से प्रेरणा मिलती है। जिस दिन जुनून खत्म हो जाएगा, में खेलना बंद कर दूंगा। में यह सोचकर कुछ नहीं करता कि मुझे किसी को कुछ साबित करना है। 
आप जब अपने लिए कुछ करते हैं, तब ही कुछ बड़ा हासिल कर पाते हैं। किसी चीज में बहुत मेहनत करने का कोई फायदा नहीं है, 
जब तक आपके अंदर उसमें सर्वश्रेष्ठ होने की इच्छा न हो आपको हमेशा पता होना चाहिए कि जो काम आपने शुरू किया है, उसे आपने क्यों चुना। अगर आप जीवन में कुछ पाने के लिए त्याग कर रहे हैं,
 तो उसमें सर्वश्रेष्ठ बनने की कोशिश करनी चाहिए।’रचनात्मकता से कभी मत डरिए, यह आपको उत्साहित करती रहेगी’-
Best motivational speech in hindi 2021। motivational speech in hindi for students

विराट कोहली भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान
2motivational speech in Hindi: आनन्द कुमार (suppar30)
प्राथमिकता को ध्यान में रखकर ही बनाएं सफलता के लिए रणनीति.
Best motivational speech in hindi 2021। motivational speech in hindi for students
मुझसे अक्सर लोग यह पूछते हैं कि आपके सुपर 30 के बच्चों का रिजल्ट इतना बेहतर कैसे होता है, वह इतना अच्छा कैसे करते हैं। 
आप बच्चों को क्या पढ़ाते हैं? कैसे पढ़ाते हैं, ? बच्चे कौन सी किताबों को पढ़ते हैं? आप बच्चों को कैसे प्रेरित करते हैं? 

जिससे गांव और गरीब परिवार से आने वाले बच्चे भी इतना अच्छा कर लेते हैं। देश के साथ विदेश में भी सुपर 30 के बच्चे सफलता का परचम लहराते हैं। मैं आज आपको इसका सबसे बड़ा कारण बताता हूं। 
मैं सुपर 30 के सभी बच्चों को आगे बढ़ने के लिए बहुत ही व्यवस्थित और प्रतिबद्ध तरीके से रणनीति बनाना सिखाता हूं। उन्हें यह बताता हूं कि जब तक आप अपने लिए रणनीति बनाना नहीं सीखते आप अपने जीवन में कुछ नहीं कर सकते हैं। 
मैं भी सुपर 30 के बच्चों की सफलता के लिए रणनीति बनाता हूं। सभी बच्चों के लिए सामान्य और सार्वजानिक रणनीति बनाता हूँ, और अलग अलग बच्चों के लिए उनकी क्षमता को ध्यान में रखते हुए अलग रणनीति तैयार करता हूं। 
इस बात को बहुत अच्छी तरह समझ लें कि जीवन के किसी भी क्षेत्र में सफल होने के लिए एक कारगर रणनीति का होना बहुत ही जरूरी है। 
रणनीति बनाते हुए इस बात का ध्यान रखें कि जिस क्षेत्र में आगे बढ़ना चाहते हैं उसके लिए ज्यादा समय कैसे निकाल सकते हैं। और अपने उस समय का ज्यादा से ज्यादा सदुपयोग कैसे कर सकते हैं। 
इसका ख्याल रखें की अपनी क्षमता को ज्यादा से ज्यादा कैसे विकसित कर सकते हैं। इसका भी ख्याल रखें की ज्यादा से ज्यादा दिमागी कसरत हो सके। यह बहुत महत्वपूर्ण है कि रणनीत बनाते हुए कुछ बड़ा करने की सोचें। 
कई बार जब वक्त लगने के बाद सफलता मिलती है तो आपको इस बात का पछतावा होता है कि मैं तो इससे भी ज्यादा कर सकता था। 
आपकी योजना महत्वाकांक्षी होनी चाहिए। साथ ही इस बात का भी पूरा ख्याल रखें की आपकी प्राथमिकता क्या है और क्या आप उस प्राथमिकता के लिए पूरी तरह से तैयार हैं। जीवन में आगे बढ़ना चाहते हैं,
 कुछ बड़ा करना चाहते हैं, बहुत बड़ी सफलता हासिल करना चाहते हैं तो इस बात को समझ लें की इसके लिए अच्छी रणनीति बनानी होगी। रणनीति बनाते हुए समय लें अच्छी तरह सोचें और हर पहलू पर विचार करें। 
यह देखें की आपने यह रणनीति क्यों बनाई है और आप जीवन में क्या हासिल करना चाहते हैं। ज्यादातर लोग रणनीति बनाते हुए सिर्फ अपने करियर के बारे में ही सोचते हैं, 
बाकी बहुत सी बातों पर ध्यान नहीं देते जो उनके मन में चल रही होती हैं। आप अपने जीवन में हर चीज को कैसे लेते हैं यह भी बहुत महत्वपूर्ण होता है। रणनीति बना रहे हैं तो यह भी देखें की क्या वह व्यवहारिक है। 

आप लगातार 12 घंटे पढ़ने के लिए रणनीति तो बना सकते हैं, पर व्यवहारिक नहीं होने की वजह से आप लगातार 12 घंटे तक पढ़ नहीं सकते। अच्छी रणनीति बनाने के लिए व्यवहारिक ज्ञान का होना भी बहुत जरूरी है।
 इस बात का ध्यान रखें की जो रणनीति बना रहे हैं वह कितने लंबे समय तक काम करेगी। सफलता की मंजिल तक पहुंचने के लिए आपकी रणनीति और योजना व्यवहारिक होगी तभी कारगर होगी।
 एक और बात याद रखें जो रणनीति बनाएं उसकी समय-समय पर जांच परख भी करते रहें कि वह ठीक से चल रही है कि नहीं। इससे आपको बहुत लाभ मिलेगा। यह भी देखें की आपकी योजना बहुत ज्यादा जटिल और पेचीदा तो नहीं है। 

आपकी रणनीति और योजना बहुत उलझी हुई होगी तो सफल नहीं हो पाएंगे। किसी भी काम की योजना बनाते हुए इस बात का भी ध्यान रखें की काम के दौरान आपके लिए भी कुछ समय निकले। याद रखें कोई भी क्रांति अचानक नहीं होती है। बहुत बड़ा काम बड़ी और सुदृढ रणनीति पर ही आधारित होता है। 

3.motivational speech in hindi: सुन्दर पिचई
एक स्पीच के दौरान सुन्दर पिचई ने यह दिलचस्प वाकया सुनाया था जिसे खूब पसंद किया गया था.
Best motivational speech in hindi 2021। motivational speech in hindi for students

गूगल के सीईओ सुंदर पिचई एक रेस्त्रां में गए। वहां बैठकर उन्होंने एक कप कॉफी ऑर्डर की अचानक उनकी नजर सामने बैठी महिलाओं पर पड़ी। उन्होंने देखा कि कहीं से एक कॉकरोच उड़कर आया और उनमें से एक महिला पर बैठ गया। 

महिला ने कॉकरोच देखते ही जोर से चिल्लाना शुरू किया। चिल्लाते हुए वो कूदने लगी। उस महिला की प्रतिक्रिया बेहद भड़काऊ थी और उसकी वजह से वहां बैठी सभी महिलाएं चिल्लाने लगीं।
 महिला ने कॉकरोच भगा दिया, लेकिन वह दूसरी महिला पर उड़कर बैठ गया। यह सब तमाशा देख एक वेटर वहां पहुंचा। कॉकरोच उड़कर बेटर पर बैठ गया। पर वेटर ना चिल्लाया, ना डरा, अपनी जगह पर स्थिर खड़ा रहा। पहले कुछ सेकंड 
वह कॉकरोच को अपनी शर्ट पर चलते देखता रहा, फिर मौका देख उसे अपने हाथ में उठाकर बाहर फेंक दिया। कॉफी पीते हुए पिचई यह सब देख रहे थे। 
उनके दिमाग में एक सवाल उठा कि क्या लोगों के इस बरताव के लिए कॉकरोच जिम्मेदार था? अगर था, तो वेटर परेशान क्यों नहीं हुआ? 
दरअसल कॉकरोच नहीं बल्कि लोगों कीअसमर्थता उन्हें परेशान कर रही थी। स्थिति को संभालने में असमर्थ महिलाएं परेशान थीं। ठीक ऐसे ही दरअसल हमें रोड पर लगने वाले ट्रैफिक जैम परेशान नहीं करते, 
ट्रैफिक जैम से पैदा हुए उपद्रव को संभालने में हम खुद असमर्थ होते हैं। समस्या से ज्यादा तो उस पर दी गई प्रतिक्रिया हमें परेशान कर देती है।
सीख: 1 हमें प्रतिक्रिया नहीं देनी चाहिए, जवाब देने चाहिए।
2क्योंकि प्रतिक्रियाएं तुरंत दी जाती है, जवाब सोच-समझकर दिए जाते हैं।
3यहां महिलाओं ने प्रतिक्रिया दी, जबकि वेटर ने जवाब दिया। 

4. motivational speech in hindi English: Bill gates 
वक्त दीजिए, वादे निभाइए, जिंदगी खूबसरत हो जाएगी
Best motivational speech in hindi 2021। motivational speech in hindi for students
20 साल बड़ा बनकर बातें करें… मुश्किलों का हल खोजने के लिए अपनी उम्र से 20 साल बड़ा महसूस करके बात करें। खुद को भविष्य में रखने से नए रास्ते मिलेंगे और तब पता चलेगा कि सच्ची खुशी छोटी-मोटी बातों में उलझने में नहीं है। -Bill Gates

5. motivational speech: शाहरुख खान 
 ‘जिंदगी के यही साल है जब आप खुद मुक्त होकर गलतियां कर सकते हैं। अगर आप ऐसा करते हैं तो मौका है कि आप अपने सपनों को हासिल करें। 

जब आप 50 साल की उम्र में होंगे तब शायद समझ पाएंगे कि जो चाहते थे, वो नहीं कर पाने का बोझ कितना होता है तो इस बोझ को इसलिए मत उठाइए कि 
आपके पिता लगातार पड़ते रहने को कहते हैं और गुस्सैल मा इसलिए डिप्रेस है कि आप लिखावट अभी भी खराब है। आप मान के चलिए यह कभी ठीक नहीं होगी…

 लेकिन मैं आपको यकीन दिलाता हूं कागज पर उकेरे गए, ये कीड़े मकोड़े, मी मच्छर कभी भी करिअर का खात्मा नहीं कर सकते। 
में पैरेंट्स के बारे में बात कर रहा हूं क्योंकि आज की रात उनके ही नाम है। मैं आपको मेरे पैरेंट्स के बारे में बताता हूँ। मेरी मा टॉप क्लास थी, वो कूल थीं उन्होंने मुझे खूब प्यार किया और वो मानती थी कि में दुनिया का सबसे मशहूर इंसान बनूंगा 
और में कुछ गलत कर हो नहीं सकता। मेरे पिता जंटलमेन थे, काफी पढ़े-लिखे थे और कानून में मास्टर थे। खूब समझदार थे, दुनिया देखी थी और सात भाषाए जानते थे। अपने देश भारत के लिए उन्होंने आजादी की लड़ाई लड़ी, वो अच्छे कुक थे… 
हॉकी, पोलो और स्वीमिंग के बढ़िया खिलाड़ी भी वो काफी गरीब भी थे, बेरोजगार थे और मेरी जिंदगी के 15 साल तक उन्हें जद्दोजहद करते देखा। वो मुझे अच्छे गिफ्ट्स भी नहीं दे पाते थे,
 उनकी ही कुछ पुरानी चीजे अखबार में लपेट कर दे दिया करते थे और उसे बर्थडे गिफ्ट का नाम दे देते थे। वो जो गिफ्ट उन्होंने मुझे दिए उनको ही कहानी आपको बताउंगा 
जिनकी मदद से मैं वो बन सका, जो मैं आज हूँ। जब दस साल का था तब पिता ने मुझे शतरंज दिया। वे शतरंज को जिंदगी का आईना कहा करते थे। शतरंज सिखाता है कि हर चाल का एक नतीजा है,
 फिर आपने उसका अंदाजा लगाया हो या ना लगाया हो। इसका आप कुछ नहीं कर सकते, इसी तरह जिंदगी का एक भी लम्हा खाली नहीं है तो चीजों को इसी तरह सोचिए हर वक्त नहीं लेकिन अक्सर इससे जिंदगी 
आपको चेसबोर्ड की तरह काली- सफेद नहीं महसूस होगी और चौकोर बक्सों से मुक्त दिखेगी इस खेल के प्यादे सिखाते हैं जीवन में छोटी-छोटी चीजों के बहुत मायने हैं। 
अगर आप अपने आस-पास को छोटी चीजों को देखेंगे तो आपको खुद के खास होने अहसास होगा। जैसे आप अभी इस स्कूल में हैं और आपसे प्यार करने वाले पैरेंट्स को छत्रछाया में है। 
इस तरह वरदान की कद्र ना करना मुर्खता है, चेस में भी और जीवन में भी इस खेल में आप फंसते भी हैं, आपकी हर चाल गलत साबित होती है. ठीक जिंदगी की तरह बिल्कुल परेशान मत होइए। 
मामूली शर्मिंदगी के साथ इसे पार कर हो जाएंगे। जरूरी केवल यह है कि चाल चलना जारी रखिए। 
पिता का दिया सबसे कीमती तोहफा एक इटेलियन टलपराइटर था। गलतियों को हटाने के लिए टाइप एक्स का इस्तेमाल हम करते थे। 
ज्यादा टाइप एक्स को अच्छा नहीं माना जाता था इसलिए हमें अपनी अंगुलियों को सही चलाने के लिए खूब प्रैक्टिस करना होती थी। जब मैं वयस्क हुआ तो अहसास हुआ कि कर्मठता और मेहनत 
करने की आपको क्षमता से ज्यादा कीमत किसी की नहीं है। प्रैक्टिस से सब आसान हो जाता है। 
मेरे पिता ने मुझे एक कैमरा भी गिफ्ट किया था। मजेदार यह था कि वो काम नहीं करता था।
 इससे में सीखा कि चीजें हमेशा आवश्यकतानुसार काम नहीं करेंगी, वो खराब भी हो सकती हैं। 
अपनी टिविटी से कभी मत डरिए, उसका सम्मान कीजिए। आपकी रचनात्मकता ही एकमात्र चीज है जो आपको उत्साहित करती रहेगी और सतुष्ट रखेगी में भी कविता लिखता हूं और काफी बुरी लिखता हूँ
कई बार यह इतनी होती है कि मैं खुद भी इसे नहीं पढ़ पाता, लेकिन भी लिखता हूँ। इससे मुझे खुशी मिलती है
 और आजादी महसूस होती है। आप भी अपनी इंडिए.. दुनिया को पसंद आए तो अच्छा और नहीं आए तो और अच्छा!!
 -2016 में श्रीरूभाई अंबानी इंटरनेशनल स्कूल में अभिनेता शाहरुख खान
क्रिएटिविटी आत्मा की प्रक्रिया है। जरूरी नहीं कि यह किसी प्रोडक्ट के रूप में जमाने के सामने आए और स्वीकार की जाए। इसमें केवल अभिव्यक्ति की सच्चाई होना चाहिए। 

6.motivational speech hindiBaren bafett
मैं आदतों से बंधे लोगों को देखता हूँ, 50-60
साल की उम्र में ये नहीं बदल सकते। लेकिन आप नहीं बंधे हैं। जब किसी ऐसे व्यक्ति के गुणों के बारे में लिखने बैठें, जिसकी 10% क्वालिटी आप अपने में लाना चाहें, तो उस सूची में देखें कि ऐसा क्या है, जो आप नहीं कर सकते।
 कंपनी में लोगों को चुनने से पहले हम 3 चीजें देखते हैं। इंटेलिजेंस पहल करने की आदत और नैतिकता। और अगर व्यक्ति में तीसरी चीज यानी नैतिकता नहीं है, तो पहली दोनों चीजें भला नहीं कर सकती। बिना नैतिकता वाले व्यक्ति कंपनी के लिए भी ठीक नहीं

जब आप शादी करते हैं और चाहते हैं कि विवाह ताउम्र बना रहे, तो पार्टनर में क्या खोजते हैं? दिमाग, ह्यूमर, चरित्र या सुंदरता? नहीं, आप देखते हैं कि साथी कम से कम उम्मीदें रखें। 
अगर दंपति में दोनों एक-दूसरे से कम से कम उम्मीदें रखें, तो ऐसी शादियां नहीं टूटती। हावर्ड में मुझे एक युवक मिला। उसने बताया कि वह फला-फलां जगह काम करना चाहता है।
 मैंने पूछा क्यों? जवाब था कि इससे रिज्यूम मजबूत होगा। मैंने पूछा कि जो तुम्हें पसंद है वो कब करना शुरू करोगे। चीजें बढ़ाने में शुरू करेंगे.. तो कभी नहीं कर पाएंगे।

Leave a Comment